18-Oct-2018 03:10:10 PM

BIRSA LIVE : 22-SEPT-2018/
बैतूल/आठनेर : युवा आदिवासी विकास संगठन आठनेर और गोंडवाना महासभा आठनेर के तत्वधान में संगठन की शाखा मेंढाछिंदवाड़ में सात दिवसीय गोंडी पुनेम का समापन हुआ। ग्राम में गोंडी घर्माचार्य रामभरोश सरियाम बडगा घड़ खापा छिंदवाड़ा ने अपने मुखार बिन्दुओ से गोंडी पुनेम की विस्तृत जानकारी दी,साथ ही साथ में गोंडी धर्म और संस्कृति को कैसे बचाये और कैसे उसका पालन करे सम्पूर्ण जानकारी गोंडी धर्माचार्य जी ने बताई, कार्यक्रम समापन के दिवस अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम हुये,जिसमे जय सेवा डान्स ग्रुप बोथी,बिरशा मुंडा डान्स ग्रुप पानबेहरा, हिडली, आष्टी, सरदार विष्णुसिंग गोंड डान्स ग्रुप मेंढा छिंदवाड, ने बड़ चढ़कर हिस्सा लियाऔर मनमोहक प्रस्तुतिया दी, इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता फुसा परते जी एवं मुख्य अतिथि के रूप में फगनासिंग उइके जी थे।
             
प्रदीप उइके(संस्थापक युवा आदिवासी विकास संगठन जिला बैतूल) ने कहा की आदिवासी समाज गैर समाज की बातो में जल्दी आ जाता है,इस कारण से ही समाज का निरन्तर उत्पीडन होता आ रहा है और इस का कारण कही न कही हम आप लोग ही है,और श्री उईके ने यह भी कहा की हमारी बेटिया गैर आदिवासी के बहकावे में आ रही है, इसका मुख्य कारण हमारी देख रेख में कमी है, हमे अब बेटा हो या बेटी सब पर ध्यान देना पड़ेंगा। तभी बेटिया सुरक्षित रह पायेंगी।।
         रामचरण इरपाचे(जनपद अध्यक्ष आठनेर):-श्री इरपाचे जी ने कहा की अगर अपनी अलग पहचान बनानी है,तो उसके लिए निरन्तर कार्यशील होना पड़ेंगा,और हमारी सोचने की शक्ति को बढ़ाना पड़ेंगा,कोई हमारे बारे में क्या सोच रहा है ये महत्वपूर्ण नही है,महत्वपूर्ण ये हैं की हम लोगो की कितनी मदद कर सकते है,श्री इरपाचे जी ने कहा की इंसान की पहचान उसकी जाती से नही अपितु उसके कर्म से होती है।
       तुलाराम उइके ने कहा की आदिवासी युवतियों द्वारा गैर समाज में शादी करने से समाज का अत्यधिक शोषण हो रहा है, आदिवासी की जमीन गैर आदिवासी महिला के नाम से खरीद रहा है और समाज के नाम की जमीन दुसरो के पास जा रही है जो की निंदनीय है।
         मुन्नालाल वाड़ीवा(जिला अध्यक्ष मध्यप्रदेश आदिवासी विकास परिषद्) ने कहा की हम श्री रामचरण इरपाचे जी के साथ निरन्तर 20 वर्षो से समाज के बिच रहकर सेवा भाव से काम कर रहे है, जिसका परिणाम आज हमे उभरता हुआ समाज दिखाई पड़ रहा है बस डर थोडा सा युवावो से है की वो कही भटक ना जाये।इस चकाचौन्ध दुनिया में खो ना जाये। सुभास उइके,जयचंद सरियाम,जयराम अहाँके,आनंद धुर्वे, कमल धुर्वे, जस्सू धुर्वे, पार्वती बाई, पंकज धुर्वे के अतिथि में संपन्न हुआ एवं ग्राम के कल्लेसिंग धुर्वे, जोहरी उइके, अविनाश उइके(सरपंच), सीमा मरोपे, हरिराम मरोपे, कलीराम धुर्वे, सुखदेव इवने(उपसरपंच), शंकर भगत, वासुदेव उइके, सोनू इवने(भुमका) आदि की उपस्थिति में संपन्न हुआ।

शेयर करे

Add a Comment