18-Oct-2018 03:30:09 PM

BIRSA LIVE : 10-OCT-2018/
दमोह : कलेक्टर ने दिव्यांग जनों को मतदान के लिए बुलाई बैठक शहर के प्रमुख संगठन आज कलेक्ट्रेट में सभागार में उनकी मीटिंग ली गई कलेक्टर द्वारा बताया गया की मतदान के लिए दिव्यांग जनों को पोलिंग बूथ तक ले जाने के लिए शहर के प्रमुख संगठनों के स्वयंसेवकों की जरूरत है ।जहां जिले की स्वयंसेवी संगठन ने अपने अपने विचार रखें वही बुंदेलखंड नवनिर्माण संगठन एवं युवा जन कल्याण समिति के जिला मीडिया प्रभारी अंकित बसेडिया ने एवं नगर कोषाध्यक्ष सुनील शाह ठाकुर के साथ नगराध्यक्ष निर्मल राठौर ने मिलकर अपने सुझावों में कहा कि विकलांग एवं व्यंजनों के लिए मतदान केंद्र तक ले जाने के लिए शासन द्वारा वाहन उपलब्ध कराया जाए एवं सौ मीटर की रेंज में व्हील चेयर स्ट्रेचर आदि को उपलब्ध कराया जाए जिसकी जिलाधीश महोदय ने सराहना की एवं कहा कि ऐसा हम अवश्य करेंगेदिव्यांग जनों के सुगम एवं समावेशी मतदान के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं का सहयोग अपेक्षित-कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. ज्इ विजय कुमार। स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न ।
दमोह कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. जे विजय कुमार आज दोपहर विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु दिव्यांग जनों के सुगम एवं समावेशी मतदान के लिए जिला स्तरीय बैठक में कहा दिव्यांग जनों कोमतदान के दौरान स्वयंसेवी संस्थाओं का सहयोग चाहिए। उन्होंने कहा स्वयंसेवी संस्था के कार्यकर्ता संबंधित क्षेत्र के होने चाहिए। यह भी कहा कि जिले में लगभग 8 हजार दिव्यांगजन है। बैठक में सी.ई.ओ. जिलापंचायत डी.एस. रणदा विशेष रूप से मौजूद थे कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. जे विजय कुमार ने कहा मतदान दिवस दिव्यांगजनो का मतदान केन्द्र तक पहुंचाने के लिए हमें सहयोग चाहिए। उन्होंने कहा जिले में और भी स्वयंसेवी संस्था है,उनसे भी चर्चा की जायें। सूची तैयार की जायें, उसमें संस्था का नाम और उनके मोबाइल नंबर लिए जायें। बैठक में मौजूद स्वयं सेवी संस्था के पदाधिकारियों से व्हील चेयर और अन्य सामग्री के संबंध में चर्चा की गयी।डॉ. कुमार ने कहा मतदान दिवस दिव्यांगजनों हेतु व्हील चेयर मुहैया कराई जायेगी। यह भी कहा कि जो भी संस्थाएं काम करेंगी उन्हें निर्वाचन कार्यालय द्वारा आई.डी. कार्ड प्रदान किये जायेंगे। सी.ई.ओ. जिला पंचायतडी.एस.रणदा ने कहा कि 80 प्लस के बुजुर्गों की मदद की जा सकती है। उन्होंने कहा स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ ही प्रस्फुटन समितियों का भी सहयोग लिए जा सकता है। यह बात स्पष्ट की गयी कि स्वयं सेवी संस्थाएं गैर राजनैतिक होनी चाहिए। बैठक में नोडल अधिकारी और विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारियों के साथ ही विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारी मौजूद थे।

शेयर करे

Add a Comment