18-Oct-2018 03:14:20 PM

देवास, 26 जुलाई 2018 : मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना जनकल्याणकारी और मजदूर वर्ग की गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद है। देवास जिले के उप स्वास्थ्य केंद्र क्षिप्रा के अंतर्गत आने वाले ग्रामों की महिलाओं के लिए जीवन में वरदान साबित हुई है। उन्हें नई अनुपम सौगात मिली है। उनकी निजी जिंदगी में खुशहाली और बहार लाई है।
श्रमिक वर्ग की गर्भवती महिला श्रीमती प्रियंका पति भीम कुम्हार उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम क्षिप्रा ने बताया कि विगत वर्ष से टाटा फेक्ट्री में दोनों पति पत्नी अस्थाई रूप से कार्य कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जिस समय वह गर्भवती थी उस समय भी वह मजदूरी करने जाती थी। लेकिन अचानक फेक्ट्री भी बंद हो गई। जिससे उन्हें आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा। प्रियंका ने बताया कि जब पहली जांच के लिए स्वास्थ्य केंद्र गई तब केंद्र प्रभारी सिस्टर नीलिमा परमार ने श्रमिक पंजीयन के बारे में पूछा। प्रियंका ने बताया कि पंचायत में पंजीयन है। इस पर नीलीमा परमार ने उक्त योजना के बारे में विस्तार से बताया और शासन की योजना का लाभ उठाने की समझाइश दी।
प्रियंका ने बताया कि उसकी यह दूसरी डिलेवरी थी, जिस पर दवाई खर्च, बच्चे की देखभाल आदि बहुत मुश्किल था। अस्पताल में टीके लगाने और जांच के लिए जब जाना पड़ता तब भी उसे परेशानियों का सामना करना पड़ता था। साथ ही सास भी ताने देने लगती कि अब काम पर नही जाएगी तो घर का काम कैसे चलेगा अब बस आराम ही करेगी। प्रियंका ने बताया कि सिस्टर के बताए अनुसार अपनी सास को जानकारी दी कि सरकार ने अंतिम तिमाही जांच होने पर चार हजार रुपए मेरे खाते में जमा होंगे और डिलीवरी होने पर 12 हजार रुपए फिर जमा होंगे। सिस्टर नीलिमा ने मूल दस्तावेजों के साथ आवेदन कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरोठा पर्यवेक्षक के माध्यम से पहुंचाया। इस प्रकार 13 जून 2018 को उन्हें चेक प्रदान किया गया। इसके पश्चात समय-समय पर जांचे हुई और अंततः एक बालिका को जिला चिकित्सालय में जन्म दिया। उन्हें योजना के साथ-साथ अस्पताल में प्रसूति का लाभ भी मिला, आशा कार्यकर्ता की प्रेरणा से परिवार नियोजन नसबंदी भी करवा ली।
अब पूरी तरह उनका परिवार खुश हाल है, और अन्य महिलाओं के लिए एक मिसाल है। अभी हाल ही में सम्पन्न हुए क्षिप्रा में सास बहू सम्मेलन में प्रियंका ने शिरकत कर सभी को अपनी कहानी बताई और शासन कि ऐसी योजनाओं का लाभ लेने की अपील की। इस प्रकार अब उनके परिवार में कोई तनाव की स्थिति नहीं है, इससे पहले गृह कलह, लड़ाई झगड़े, आदि आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से हुआ करते थे। लेकिन अब खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे है।
योजना का लाभ मिलने पर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान का हृदय से आभार मानते हुए प्रियंका कहती है कि शासन की इस महती योजना से उसे 16 हजार रुपए का लाभ मिला, साथ ही गर्भावस्था के दौरान उसे काम से अवकाश भी मिला। वह तथा उसका परिवार मुख्यमंत्रीजी का हृदय से आभार मान रहे है। उक्त योजना में लाभ मिलने पर स्थानीय ए.एन.एम. नीलिमा परमार, आशा सहयोगी नीलम बंसल, आशा कार्यकर्ता रेखा चौहान, सुशीला मालवीय, रचना राठौड़, मंजू पांचाल, वाहिद भाई, सेक्टर क्षिप्रा के क्षेत्रीय पर्यवेक्षक डॉ, इक़बाल मोदी का आभार व्यक्त किया।

शेयर करे

Add a Comment