18-Oct-2018 03:38:19 PM

BIRSA LIVE : 22-SEP-2018/
बैतूल/मध्यप्रदेश : बैतूल प्रवास पर 19 सितंबर को आई आदिवासियों की समस्या सुनने राष्ट्रीय जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष सुश्री अनुसुइया उइके को आदिवासी समाज के सामाजिक कार्यकर्ता वासुदेव उइके, हेमंत सरियाम, राजेश धुर्वे, महेश उइके, निमेष गोंड आदि युवा कार्यकर्ताओं द्वारा जिला स्तर पर कर्मचारी भवन में  आदिवासियों की समस्याओं का समय पर निराकरण करवाने एंंव राष्ट्रीय जनजाति आयोग द्वारा अनुसूचित जनजातियों का समाजार्थिक विकास हेतु महत्वपूर्ण पहलू-जनजाति उपयोजना (टीएसपी) योजना का साथ प्रचार-प्रसार हो सके जनजाति आयोग की उप शाखा जिला स्तर पर संचालित करवाने  सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा आवेदन देकर मांग की गई इस मांग को राष्ट्रीय जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष महोदया द्वारा मना कर दिया गया -कहां गया बैतुल मैं संचालित नहीं हो सकती जब कार्यकर्ताओं द्वारा प्रश्न पूछा गया आदिवासियों की समस्याओं को देखते हुए जब दिल्ली-भोपाल में जनजाति आयोग के कार्यालय खुल सकते हैं तो बैतुल में क्यों नहीं  इस प्रश्न पर राष्ट्रीय जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष महोदया द्वारा कार्यकर्ताओं को संतोषजनक  जवाब नहीं दिया गया।
आदिवासी  वर्ग की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वह समस्याओं को लेकर दिल्ली भोपाल जनजाति आयोग जा सके इन्ही कारणों से सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा राष्ट्रीय जनजाति आयोग के समक्ष जिला स्तरीय आयोग की मांग की गई ।

शेयर करे

Add a Comment